प्रकाशित ख़बरों व प्रेषित शिकायतों से बौखलाये खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के क्षेत्रीय अधिकारी आशीष गंगवार, भिन्न-भिन्न माध्यमों से बना रहे पत्रकार पर दबाव
डाटला एक्सप्रेस संवाददाता   जनपद गाज़ियाबाद के साहिबाबाद अंतर्गत भोपुरा स्थित गगन विहार कॉलोनी में खाद्य सामग्रियों को बनाने/बेचने वाली अनगिनत दुकाने व फैक्ट्रियां संचालित हैं। इनमें से कइयों के पास तो फूड लाइसेंस तक नहीं है। इन सभी दुकानों व फैक्ट्रियों में से किसी एक आधे को छोड़ बाकी कोई भी फूड स…
Image
कविता:-कुछ अहसास कहो जी
डाटला एक्सप्रेस की प्रस्तुति मन का कुछ अहसास कहो जी कोशिश कर कुछ ख़ास कहो जी तिलभर भी बाकी हो यदि तो मिलने की कुछ आस कहो जी जितने भी हो आप हमारे खुलकर के आभास कहो जी पतझड़ के मौसम में भी क्या बाकी है मधुमास कहो जी हमने तुम्हें मुहब्बत भेजी पहुँच गई क्या पास कहो जी क्या अब …
Image
तस्वीरों मे हीरो और ग्राउंड पर जीरो नज़र आते हैं खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के अधिकारी
डाटला एक्सप्रेस संवाददाता  गाज़ियाबाद:-जनपद में संचालित हज़ारो मिठाई की दुकानों व खाद्य सामग्रियों का उत्पादन करने वाली फैक्ट्रियों में से कभी कभार साल में किसी विशेष समय (होली, ईद रक्षाबंधन, दिपावली आदि त्योहारों पर) पर अपनी कुंभकर्णी नींद से जाग किसी चुनिंदा खाद्य बिक्री करने वाली दुकान आदि का सै…
Image
खाद्य सुरक्षा अधिकारी के संरक्षण में खेला जा रहा है मिलावट का खेल।
डाटला एक्सप्रेस संवाददाता  गाजियाबाद:-त्यौहारों का मौसम आते ही खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन "गाज़ियाबाद" के अधिकारी अपनी दिखावटी सक्रियता का प्रदर्शन करते हुए कुछ एक जगह छापेमारी कर उनके यहां से खाद्य सामग्रियों का सैंपल भर अपनी पीठ थपथपाते दिखाई पड़ते हैं, फिर चाहे पूरे वर्ष इस विभाग क…
Image
कविता:-हमें तुम्हारी आँखों में
डाटला एक्सप्रेस की प्रस्तुति   दो कजरारी आँखों में इन उजियारी आँखों में सारी दुनिया दिखती है हमें तुम्हारी आँखों में निजहित सँग परहित पाया नित उपकारी आँखों में किन्तु दर्द किसलिए बसा आज दुलारी आँखों में कैसे आई है कहिये यह लाचारी आँखों में धैर्य धरो जी सब …
Image
कविता:-संघर्ष की ज्वाला
डाटला एक्सप्रेस की प्रस्तुति   ये ज्वाला यू धधकती है न जाने कितनों को ये सबक देती है सुभाष चन्द्र में भी धधकती एक ज्वाला थी  ये ज्वाला क्रांति के लिये उनमे भड़की थी मातृ भूमि के प्रति स्वाभिमान की ज्वाला  सुभाष चंद्र ने ही लोगों में जागृत की थी। ये ज्वाला यू धधकती है किसानों को ये संघर्ष के लिये प्र…
Image