दिन-प्रतिदिन ऊंची होती जा रही भ्रष्टाचारी इमारत, पूरा विभाग क्या एक जूनियर इंजीनियर के सामने हो गया है फुस्स ?



अवर अभियंता प्रवीण कुमार चौहान की काली कमाई से बन रही आलीशान कोठी से संबंधित मामले पर अधिकारियों ने साध रखी है चुप्पी, अधिशासी अभियंता राजीव आर्य भी प्रवीण कुमार चौहान को बचाने मे हैं जुटे

डाटला एक्सप्रेस संवाददाता

पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड गाज़ियाबाद डिवीजन चार के राजेन्द्र नगर बिजली घर पर तैनात अवर अभियंता प्रवीण कुमार चौहान द्वारा उसकी काली कमाई से प्लॉट संख्या 03/191 सैक्टर 02 राजेंद्र नगर साहिबाबाद गाज़ियाबाद उत्तर प्रदेश पर बन रही करोड़ों की कोठी से संबंधित खबर पूर्व में हमारे समाचार पत्र द्वारा प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था जिससे संबंधित कई शिकायतें जनपद, मंडल व शाशन स्तर के अधिकारियों सहित मुख्यमंत्री आदि को मामले मे निष्पक्ष और खास कर अधिशासी अभियंता राजीव आर्य के अतिरिक्त किसी अन्य स्वतंत्र अधिकारी से जांच करवाते हुए भ्रष्‍ट अवर अभियंता प्रवीण कुमार चौहान के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करने की मांग की गई थी, किंतु दुर्भाग्यवश 15 दिन बीत जाने के बावजूद अब तक किसी भी प्रकार की कोई आवश्यक जांच नहीं हो पाई है जिससे विभागीय अधिकारियों की नीयत का अंदाजा भलीभांति लगाया जा सकता है। 


दूसरी ओर अवर अभियंता प्रवीण कुमार चौहान द्वारा उसकी काली कमाई से बनवाई जा रही आलीशान कोठी धीरे-धीरे अपने निर्माण के अंतिम चरण मे पहुंच चुकी है जिसे प्रकाशित तस्वीर मे भी देखा जा सकता है। लोगों को आशा थी और अब भी है कि जब तक उत्तर प्रदेश मे योगी राज है कोई भी भ्रष्टाचारी, बदमाश या भू-माफिया पनप नहीं पाएंगे, किंतु इस मामले को देखते हुए अंदाजा लगया जा सकता है वायदों से अलग जमीनी हक़ीक़त कुछ और ही है ऐसे इसलिये क्यूंकि जब प्रदेश के एक विभाग मे एक मामूली से अवर अभियंता के पद पर तैनात व्यक्ति पर कोई कार्यवाही करने मे शाशन-प्रशासन असमर्थ है तो अन्यों पर क्या ही कार्यवाही हो पा रही होगी यह समझना कठिन नही।

पूरा मामला कुछ इस प्रकार से है

पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (गाजियाबाद) डिवीजन 4 के राजेन्द्र नगर बिजली घर पर जूनियर इंजीनियर के पद पर तैनात प्रवीण कुमार चौहान का आय से अधिक सम्पत्ति होने का मामला प्रकाश मे आया था जिसमें इसके द्वारा इसकी लोनी में तैनाती रहने के दौरान कई ऐसे कार्य किए गए जिसकी वजह से अवर अभियंता प्रवीण कुमार चौहान के द्वारा राज्य सरकार को लाखों रुपए के राजस्व पहुंचाया गया वहां से कमाई हुई काली कमाई से इसके द्वारा राजेंद्र नगर जैसे पॉश इलाके में 200 वर्ग मीटर की कोठी खरीद कर उसको आलीशान तरीके से चार मंजिला बनवाया जा रहा है, लोनी में तैनाती के दौरान इसके ऊपर कई विभागीय कई जांचे भी हो चुकी हैं। 

विश्वसनीय सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार जनपद गाज़ियाबाद के साहिबाबाद स्थित पॉश कॉलोनी राजेंद्र नगर के सैक्टर 02 स्थित प्लॉट संख्या 3/191 पर 40 से 50 हज़ार रुपयों की तनख्वाह पाने वाले जूनियर इंजीनियर प्रवीण कुमार चौहान द्वारा 200 वर्ग मीटर के भूखंड पर चार माले की एक आलीशान कोठी का निर्माण बहुत तेजी से करवाया जा रहा है। अभी 2 दिन पहले रविवार को अवर अभियंता प्रवीण कुमार चौहान के द्वारा अपनी मौजूदगी में चौथा लेंटर भी डलवाया गया जिसमें यह अपनी भूरी रंग की स्विफ्ट गाड़ी जिसका नंबर UP13BE1835 के साथ मौके पर मौजूद खुल्लमखुल्ला बेखौफ अपनी करोड़ों की कोठी का चौथा लैंटर डलवाने का काम अपनी मौजूदगी मे करवा रहा है। 

कई प्रॉपर्टी डीलरों से बात करने पर पता चला है कि उक्त भूखंड और उस पर हो रहे आलीशान निर्माण की अनुमानित लागत लगभग 6 करोड़ से अधिक की है। 

इसके अतिरिक्त जूनियर इंजीनियर प्रवीण कुमार चौहान को लग्ज़री गाड़ियों का भी काफी शौक है, उनके पास लाखों रुपयों की कई गाड़ियां मौजूद हैं जिनमे इनोवा क्रिस्टा व स्विफ्ट डिज़ायर प्रमुख हैं। और तो और 40 से 50 हज़ार रुपयों की तनख्वाह पाने वाले इस इंजीनियर ने अपना एक पर्सनल ड्राइवर तक रखा हुआ है जिसका नाम अवर अभियंता प्रवीण कुमार चौहान के द्वारा संविदा कर्मी में राजेंद्र नगर बिजली घर पर लिखवाया हुआ है उस ड्राइवर को इनके द्वारा फर्म के माध्यम से तनख्वाह दिलाई जाती है इससे अलग सूचनानुसार 15 हज़ार रुपयों का मासिक वेतन प्रवीण कुमार चौहान द्वारा भी दिया जा रहा है। यहां ताज्जुब तो यह है कि सरकारी विभागों मे तैनात कुछ ऐसे अधिकारी भी हैं और रहे हैं जिन्होंने बर्षों के अपने सेवाकाल मे एक चार पहिया वाहन नही खरीद पाए। और एक तरफ प्रवीण कुमार चौहान जैसे अभियंता भी हैं जिन्होंने अपने कुछ वर्षों के सेवाकाल मे करोड़ों की काली सम्पत्ति जमा कर विभाग और सरकार के मुह पर कालिख पोतने का काम कर डाला। 

कभी विद्युत विभाग में टीजी 02 के पद पर तैनात हुए प्रवीण कुमार चौहान का रुतबा समय के साथ-साथ इतना बढ़ता चला गया कि यूनियन बाजी करके अधिकारियों पर दबाव बना कर अपना प्रमोशन करवा लिया। नतीजतन आज इसकी साख विभाग मे इतनी बढ़ गई है कि कुछ वर्षों के कार्यकाल मे ही इसने करोड़ों की सम्पत्ति अर्जित कर ली है।

हमारे द्वारा उक्त मामले से संबंधित शिकायतें पुनः जनपद, मंडल व शाशन स्तर के अधिकारियों सहित मुख्यमंत्री आदि को भेज मामले की निष्पक्ष जांच करवाते हुए उचित कार्यवाही करने की मांग की जाएगी।

Comments
Popular posts
नही हुई कार्यवाही तो आरटीओ कार्यालय का घेराव कर करेंगे तालाबंदी पं. सचिन शर्मा (प्रदेश अध्यक्ष)
Image
मुख्य अभियंता मुकेश मित्तल एक्शन मे, भ्रष्‍ट लाइन मैन उदय प्रकाश को हटाने एवं अवर अभियंता के खिलाफ विभागीय कार्यवाही के दिये आदेश
Image
प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की छत्रछाया में अवैध फैक्ट्रियों के गढ़ गगन विहार कॉलोनी में हरेराम नामक व्यक्ति द्वारा पीतल ढलाई की अवैध फैक्ट्री का संचालन धड़ल्ले से।
Image
वरिष्ठ कवियित्री ममता शर्मा "अंचल" द्वारा रचित एक खूबसूरत रचना "जो न समझते पाक मुहब्बत" आपको सादर प्रेषित
Image
चोरों के हौसले बुलंद-भोपुरा स्थित आशीष भारत गैस एजेंसी के ऑफिस का तोड़ा ताला
Image