बेटी नही है तुम बन पाओगी क्या

बेटे की शादी के लिए

लड़की देखने गया

पहले दूर से देखा

फिर करीब आया

वो अपने मम्मी पापा

भाई बहन के साथ थी

नजरों से आंकलन किया

फिर मस्तिष्क पर जोर डाला

ये घिरी है अपनों के बीच

मेरे घर में रच बस पाएगी क्या

ये तो अपने पापा की परी है

मां की लाडली भाई की दुलारी है

बहन की सहेली है 

मेरे घर आ पाएगी क्या

आ भी गयी तो मेरे घर को महकायेगी क्या

सोन चिरैया बन मेरे आंगन में चहकेगी क्या

लड़की के पिता ने

असमंजस में देख पूछ लिया

आपने कुछ कहा नहीं

मैनें एक एक कर सभी को देखा

फिर लड़की से पूछा

मेरी बेटी नहीं है

तुम बन पाओगी क्या ?











राज कुमार सिंह, दीवान बाजार (काली मंदिर के पास) गोरखपुर उ.प्र

Comments
Popular posts
जीडीए के नए उपाध्यक्ष क्या लगा पाएंगे प्रवर्तन जोन 06 के इंदिरापुरम क्षेत्र में हो रहे अवैध निर्माणों पर अंकुश।
Image
जीडीए प्रवर्तन जोन एक (01) अभियंताओं के संरक्षण में वर्षों से संचालित हैं कई अवैध मार्केट्स।
Image
भारतीय किसान यूनियन "अंबावता" द्वारा ओला वृष्टि से हुए किसानों के नुकसान पर मुआवजा देने के लिए राष्ट्रपति के नाम दिया ज्ञापन।
Image
गाज़ियाबाद विकास प्राधिकरण के उद्यान अनुभाग अंतर्गत आने वाले सिटी फॉरेस्ट के वाहन पार्किंग स्थल पर तैनात कर्मी जीडीए द्वारा निर्धारित वाहन पार्किंग मूल्य हेतु टिकट पर अंकित मूल्य से अधिक ले रहे हैं पैसे।
Image
गाज़ियाबाद के लोनी में कोरोना के बढ़ते मामलों से पूरा क्षेत्र दहशत में