खाद्य सुरक्षा अधिकारी के संरक्षण में खेला जा रहा है मिलावट का खेल।



डाटला एक्सप्रेस संवाददाता 

गाजियाबाद:-त्यौहारों का मौसम आते ही खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन "गाज़ियाबाद" के अधिकारी अपनी दिखावटी सक्रियता का प्रदर्शन करते हुए कुछ एक जगह छापेमारी कर उनके यहां से खाद्य सामग्रियों का सैंपल भर अपनी पीठ थपथपाते दिखाई पड़ते हैं, फिर चाहे पूरे वर्ष इस विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को कहीं देखना भी दुर्लभ क्यूँ न हो। यानी इन त्योहारों के मौसम में ही खाद्य सामग्रियां बेचने/बनाने वाली दुकाने आदि मिलावटी या खराब गुणवत्ता की खाद्य सामग्रियां तैयार करती हैं बाकी पूरे वर्ष वह सब बड़ी ही ईमानदारी से साफ सुथरा और गुणवत्तापूर्ण खाना व मिठाइयां अपने ग्राहको को परोसती हैं। 

खाद्य सुरक्षा विभाग की इसी उदासीनता के चलते आज पूरे जनपद में सैकड़ों ऐसी खाद्य सामग्रियां बेचने/बनाने वाली दुकाने/फैक्ट्रियां संचालित हैं जो विभाग के अधिकारियों से अपनी सांठगांठ कर अपने ग्राहकों को बड़ी ही खराब गुणवत्ता की खाद्य सामाग्री परोसते हैं, जो आगे चलके लोगों के स्वास्थ्य के लिये बहुत ही अहितकारी साबित होता है जिससे लोगों को कई बीमारियों का भी सामना करना पड़ता है। 

जनपद के साहिबाबाद अंतर्गत आने वाले भोपुरा के गगन विहार, मेन मार्केट, 25 फुटा रोड, हर्ष विहार सेकंड 20 फुटा रोड, तुलसी निकेतन और भोपुरा मेन रोड पर मिठाईयों की दर्जनों दुकानें हैं। प्राप्त सूचनानुसार इन सभी दुकानों पर काफी खराब गुणवत्ता की मिठाइयां बनाई व बेची जाती हैं जिसकी पूर्ण जानकारी काफी लंबे समय से क्षेत्रीय खाद्य सुरक्षा अधिकारी को भी है, परंतु किसी विशेष कारण के चलते वह इन दुकानों व इनके संचालकों पर कोई भी कार्यवाही करने से आज दिन तक बचते आये हैं। 

इनमें से ही एक दुकानदार क्षेत्र में राजा हलवाई के नाम से मशहूर है, जिसकी दुकान व फैक्ट्री गली नंबर 6 के कोने पर मेन 25 फुटा रोड गगन विहार में स्थित है यह मिठाइयों के साथ-साथ कच्ची चाऊमीन, केमिकल द्वारा बनाई हुई लाल/हरी चटनी एवं चाऊमीन में प्रयोग किए जाने वाले सिरके को बनाने का भी काम करता है, उक्त हलवाई द्वारा बनाई जाने वाली इन तमाम चीजों की गुणवत्ता इतनी ज़्यादा खराब है कि कोई इसके द्वारा बनाई गई चीज़ों का सेवन यदि कुछ दिन भी कर ले तो उसका गंभीर रूप से बीमार पड़ना निश्चित है।नाम न बताने की शर्त पर एक दुकानदार ने बताया कि इसके विरुद्ध कई जनशिकायतें खाद्य सुरक्षा विभाग को की गई हैं परंतु क्षेत्रीय खाद्य सुरक्षा अधिकारी से इसकी सांठगांठ के चलते इसके विरुद्ध अब तक कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है।आगे उन्होंने बताया कि प्रत्येक माह एक निश्चित तिथि को कोई व्यक्ति खाद्य सुरक्षा विभाग से इसके पास ज़रूर आता है और वह क्या करने आता है इसे समझना मुश्किल नही।

उक्त मामले की शिकायत जनपद व शाशन स्तर पर की जा रही है। ताकि ऐसे जहरीले खाद्य सामग्रियों को परोसने वाले व उनका संरक्षण करने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही हो सके।

Comments