पत्रकारों पर आए दिन हो रहे जानलेवा हमले से पत्रकारों में गुस्सा

 


ट्रू टाइम्स पंकज तोमर


गाजियाबाद:यह किसी से छुपा नहीं है कि किस प्रकार से आज-कल एक के बाद एक पत्रकारों पर जानलेवा हमले हो रहे हैं। बावजूद इसके पत्रकारों के पक्ष में कोई भी मजबूत कानून नहीं बनाया गया है। कई पत्रकारों की तो हमले के बाद जान भी जा चुकी है। ऐसा ही एक और ताज़ा मामला सामने आया है जिसने इस प्रकार की घटना लोनी में देखने को मिली है। आपको बताते चलें कि दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल द्वारा खबर की कवरेज करने गए गाजियाबाद के वरिष्ठ पत्रकार व उसके सहयोगी साथी पत्रकार राहुल शर्मा पर जानलेवा हमला कर दिया गया। दिल्ली और एनसीआर में आज अपराध अपने चरम पर है आए दिन कोई न कोई आपराधिक घटना सामने आती रहती है। यदि पुलिस ही अपने नीजी स्वार्थ के लिए अपराध करने लगे तो भला एक आम आदमी न्याय की उम्मीद किससे करेगा करेंगे बहरहाल पत्रकारों पर हुई उक्त पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की है। फुटेज में दो युवकों पर दिल्ली पुलिस कांस्टेबल ताबड़तोड हाथ चला रहे हैं और वह युवक अपने आप को बचाते हुआ दिखाई दे रहा है।  


दरसल यह पूरा मामला  गाजियाबाद के लोनी इलाके का है जहां दो पड़ोसीयों के बीच पानी को लेकर शुरू हुआ विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया। जब इस पूरे मामले की जानकारी गाजियाबाद के पत्रकार राजीव मिश्रा व उनके सहयोगी राहुल शर्मा को मिली तो वह फौरन इस खबर को कवर करने के लिए पहुंच गए। मौके पर पहुंच पत्रकार ने देखा कि वहां दोनों पक्षों के बीच जबरदस्त संग्राम मचा हुआ था। पत्रकार राजिव मिश्रा ने विवाद को शांत करने की कोशिश की लेकिन उन्हे उस वक्त ये नही पता था जिस विवाद को वो शांत कराने की कोशिश कर रहे हैं वही लोग उन्हे जान से मारने की कोशिश करेंगे। पत्रकार राजीव मिश्रा जब मामले को शांत करवाने में लगे थे तभी अचानक मौजूद भीड़ द्वारा उनके साथ अभद्र व्यवहार करना कर दिया गया जैसे वहां मौजूद लोगों के सरो पर खून सवार हो गया हो। भीड़ में मौजूद दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल महेंद्र नाम के आरोपी ने अपने गुर्गों के साथ पहले तो पत्रकारो के साथ मारपीट की और फिर गला दबाकर उन्हें मारने की कोशिश की। पीड़ित पत्रकारो ने बताया की पहले तो दिल्ली पुलिस में तैनात कांस्टेबल महेंद्र ने उनके साथ मारपीट की और उन्हें काफी अपशब्द भी बोले। पत्रकारों ने बताया कि आरोपी महेंद्र ने अपने साथियों के साथ मिल कर उन पर जानलेवा हमला किया है औंर उनका गला दबाया व लात-घुसो से प्रहार किया है।सीसीटीवी फुटेज में देखने पर पता लगता है कि जिस प्रकार पत्रकारों पर वार किया जा रहा था उसे देख कर तो यही लग रहा है कि मुल्जिम कांस्टेबल और उसके गुर्गों का उन्हें जान से मारने का है।फिलहाल इस पूरी घटना को लेकर पीड़िक पत्रकार राजीव मिश्रा ने इसकी शिकायत लोनी थाना में दी है। लोनी कोतवाली प्रभारी ओ.पी सिंह ने बताया कि आरोपी महेंद्र समेत तीन अन्य लोगों को गिरफ्तारी कर लिया गया है। पुलिस टीम गठित कर दी गई है अन्य आरोपियों को भी जल्द ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा ।