युगदृष्टा त्यागमूर्ति स्वामी आत्माराम "लक्ष्य" महाराज जी के महापरिनिर्वाण दिवस पर सादर श्रद्धासुमन समर्पित।


सबसे समता भाव ही, सबसे सबकी प्रीत।


गुरु से सच्चे प्रेम की, सदा जगत में जीत।।


 


ऊँची महिमा आपकी, ऊँचा है गुणगान।


सदा जगत में है बड़ा, गुरु का ऊँचा स्थान।।


 


आत्म लक्ष्य ज्ञान की, जल रही ज्योति दीप। 


चहुँदिश फैली रोशनी, जैसे मोती सीप।।


 


आत्म लक्ष्य आपका, सच्चा करम विधान। 


सदा समर्पण भाव ही, साधक की पहचान।।


 


स्वामी जी है आपका, ये सच्चा संदेश।


शिक्षा ज्योति ज्ञान की, फैले घर-घर देश।।


            जय गुरुदेव नमः 



लेखिका चन्द्रकांता सिवाल "चन्द्रेश"


उपप्रधान (दिल्ली प्रांतीय रैगर पंचायत पंजी.)


Comments
Popular posts
पर्पल पेन समूह द्वारा 'अनहद' काव्य गोष्ठी एवं पुस्तक लोकार्पण का भव्य आयोजन
Image
भ्रष्‍ट लाइनमैन उदय प्रकाश को एक बार फिर बचाने मे कामयाब दिख रहे हैं जांच अधिकारी।
Image
चन्द्र फ़िल्म प्रोडक्शन की दूसरी फ़िल्म बावळती के पोस्टर का विमोचन तोदी गार्डन में अध्यक्ष पवन महेश्वरी भजपा, सुल्तान सिंह राठौड़, पवन तोदी ने किया।
Image
काशी भूमि सेवा संस्था के कार्यकारी निदेशक श्री भूपेंद्र राय ने रोशन कुमार राय द्वारा लिये गये साक्षात्कार मे कहा-समाज सेवा और जनहित ही है मेरा पहला लक्ष्य
Image
पिलखुवा में राष्ट्रीय ग़जलकार सम्मेलन सम्पन्न
Image