अमेरिकी चुनाव आयोग द्वारा करवाया गया निष्पक्ष चुनाव" जो बाईडेन का हुआ अमेरिका       

         


    अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाईडेन ने इस बार सौ साल में पहली बार रिकार्ड मत हासिल कर एक नया कीर्तिमान बना दिया। ऐसा तभी होता है जब सरकार ने अपने कामों से जनता का दिल जीत लिया हो या जनता झूठे नारे, अन्यायपूर्ण काम और व्यवहार से नाराज होकर किसी एक को इतने भारी मतों से विजयी बनाती है।


ट्रंप की भड़काऊ,भ्रामक,विभाजन कारी नीति,झूठ बोलने वाली शैली से अमेरिकी जनता में रोष बढ़ता जा रहा था। अमेरिका की गिरती अर्थव्यवस्था,जीवन स्तर मे गिरावट के बावजूद ट्रंप जी ईवेन्ट की तरह काम करके दौलत,समर्थकों की भीड़,मीडिया के दम पर अपनी छवि चमकाने और विरोधियो का मजाक उड़ाने जैसी चीज़ो को अपनी चुनावी रणनीति का हिस्सा बना लिया। इससे मध्यमवर्गीय , एशियाई मूल के लोगों ,मुस्लिम व अमरीका में रह रहे भारतीयों में उनके प्रति नाराजगी बढ़ती जा रही थी। पिछला चुनाव भी ट्रंप द्वारा मुस्लिमों के खिलाफ जहर फैला व अप्रवासी लोगो को अमेरिका से बाहर निकालने और भारी-भरकम दौलत के दम पर जीता गया।             


       भारत के नेता जी ने भी ट्रंप जी के पक्ष मे वोट मांगे। ट्रंप जी ने चुनाव जीतने के बाद भारतीय बच्चों के उच्च शिक्षा में बाधा खड़ी कर दी। चुनाव से पहले अश्वेत अमेरिकन्स के खिलाफ ब्यान दिया और उनके साथ पूलिस ने भी बहुत जुल्म किए । अमेरिका में एशियन ,मुस्लिम, भारतीय, मध्यमवर्गीय अमेरिकन अन्दर-अन्दर भयभीत थे। जो बाईडेन ने भारतीय मूल की कमला हैरिसन को उप राष्ट्रपति का उम्मीदवार बना समाज मे भाईचारा कायम करने का सन्देश देने के साथ-साथ शालीनता, सादगी और विनम्रता से जनता के मध्यमवर्गीय लोगों को आर्थिक नुकसान न होने का आश्वासन दिया और कहा कि अमेरिका से किसी भी अप्रवासी को बाहर नही भेजा जायेगा हम सब मिल कर अमेरिका मे भाईचारा कायम करेंगे। पिछला चुनाव ट्रंप जी ने ई.वी.एम में पड़े वोटों से जीत लिया जबकि बैलेट पेपर से डाले गये वोटों मे हिलेरी क्लिंटन को अधिक वोट मिले थे तब लाखो अमेरिकी लोगों ने ई.वी.एम मशीन का विरोध किया था।   


      इस बार भी ट्रंप जी बैलेट से वोट डालने का विरोध कर रहे थे। अमेरिका के ईमानदार चुनाव आयोग ने अमेरिका की जनता की आवाज को सुना और लोगों को बैलेट से भी अपना वोट डालने का आदेश दिया। इस बार के चुनाव में ई.वी.एम से पड़े वोटों में डोनाल्ड ट्रंप जी को अधिक वोट मिले लेकिन अमेरिका की जनता ने बैलेट से जो बाईडेन को 85 % वोट डाल कर सौ साल मे सर्वाधिक मत दे उन्हें अमेरिका का प्रथम नागरिक बना दिया। 


       ट्रंप के सुपुत्र ने चुनाव नतीजे पूरे आये भी नही थे उससे पहले ही जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा अपने नक्शे मे दिखा दिया यह ट्रंप का भारत के प्रति उनके दृष्टिकोण को दर्शाता है। जबकि भारत में एक दल के लोग ट्रंप जी की जीत के लिये मंदिरों मे पूजा-पाठ व हवन कर रहे थे। भारत का टी.वी मीडिया ट्रंप जी को हिरो व बाईडेन को कमजोर और नासमझ पेश कर रहा था। सरकार का कदम बराबर का होना उचित व न्याय संगत होना चाहिये। जबकि बाईडेन ने भारतीय व भारत को सम्मान दिया। मुझे आशा है कि भारतीय सरकार जो बाईडेन से मजबूत आर्थिक, सामरिक प्रगाढ़ सम्बन्ध बना कर भारत को मजबूत बनायेगी।                



 


लेखक--गनपतराय मोहनपुरिया


करौल बाग (दिल्ली)