रास्ते को लेकर वार्ड नंबर पांच के पार्षद चतर सिंह व ठेकेदार के खिलाफ दुकानदारों ने कि नारेबाजी


गाजियाबाद:-साहिबाबाद क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली गगन विहार भोपुरा वार्ड नंबर 5 के मेन मार्केट 25 फुटा रोड पर नाले व रास्ते का निर्माण कार्य किया जा रहा है वही मार्केट के लोगों का यह आरोप है कि वार्ड नंबर पांच के पार्षद चतर सिंह ने इस कार्य को ठेकेदार से किसी बात को लेकर झगड़ा करके रुकवा दिया है और ठेकेदार कुछ दिन पहले पूरे काम को बंद कर अपना सामान लेकर चला गया जिसकी वजह से यह काम 1 महीने अधिक से बंद पड़ा हुआ है और अब त्योहारों का सिलसिला शुरू होने वाला हैं। वही कुछ दिन पहले कई बार रास्ता दोबारा बनाने के लिए पार्षद से कुछ लोगों ने अपील की थी बावजूद इसके पार्षद ने रास्ता बनवाने का काम उस दौरान शुरू कराने से मना कर दिया और अब जब लगातार त्यौहारों की झड़ी लगने वाली है तो अब ठेकेदार इस काम को शुरू करने की बात कह रहा है।काम शुरू करने के लिए जब ठेकेदार पहुंचा तो दुकानदारों ने दीपावली के बाद काम शुरू करने के लिए कहा तो ठेकेदार अपनी बात पर अड़ गया और कहने लगा कि काम तो अभी शुरु करूंगा और यह कह कर उसने पार्षद चतर सिंह को भी मौके पर बुला लिया जिससे नाराज दुकानदारों ने पार्षद और ठेकेदार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी जिससे पार्षद और ठेकेदार की नारेबाजी कर रहे लोगों से कहासुनी हो गई। गुस्साए दुकानदारों ने अभी काम कराने से इनकार कर दिया है और कहा कि अभी त्यौहार का समय है और दुकानों के सामने नाला व रास्ते को खोदकर दोबारा ठेकेदार आने जाने वाले लोगों के लिए परेशानी खड़ा कर देगा वही दुकानदारों का यह भी आरोप है की कुछ दूरी तक नाला खुदा होने के बावजूद भी ठेकेदार ने नाला नहीं बनाया और हमारे मकानों के सामने नाला खोदकर छोड़ दिया जिसकी वजह से हमारे बच्चे व आने जाने वाले लोग रोजाना नाले में गिर जाते हैं। कई बार गुजारिश करने के बाद भी आज तक इस खुदे हुए नाले को नहीं बनाया गया है और अभी भी खुदे हुए नाले को बनाने के लिए ठेकेदार पार्षद चतर सिंह साफ इंकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि की जब दीपावली के बाद दोबारा रास्ते को बनाया जाएगा तभी इस काम को हम कराएंगे अभी नहीं करा पाएंगे। इन सब बातों से साफ जाहिर होता है कि बीजेपी के नेताओं के सामने आम जनता की क्या अहमियत है वह आम लोगों परेशानियों को दरकिनार कर केवल अपनी मनमानी करते है जिससे लोगों में आक्रोश और सरकार के प्रति निराशा है।


Comments