जेई निरंजन मौर्या व लाइनमैन राजीव के इशारे पर कराई जा रही थी विद्युत चोरी, सतर्कता विभाग ने मारा छापा


गाजियाबाद:-साहिबाबाद डिवीजन चार राजेंद्र नगर बिजली घर के अंतर्गत आने वाले कोयले एनक्लेव बिजली घर क्षेत्र में सतर्कता विभाग (विजिलेंस डिपार्टमेंट) ने जेई निरंजन मौर्या और लाइनमैन राजीव के मंसूबों पर उस वक्त पानी फेर दिया जब वह गगन विहार ए ब्लॉक मेन 25 फुटा रोड पर बने एक मकान में विद्युत चोरी का सिंडिकेट चलवा रहे थे। सूत्रों और आस-पास रहने वाले लोगों से मिली जानकारी के अनुसार खसरा नंबर 442 ए-ब्लॉक पार्षद चतर सिंह के ऑफिस के पास दीपक कौशिक नामक व्यक्ति का मकान है जिसका कनेक्शन नंबर ए.वी 44 4013 बुक आईडी 3011 अकाउंट आईडी 7226948042 है में कोयल एनक्लेव बिजली घर पर सालों से जमे बैठे जेई निरंजन मौर्या और इनका चाहिता लाइनमैन राजीव कुमार इस मकान जो कि दीपक कौशिक का है में लाइट चोरी करवा रहे थे लेकिन उनके मंसूबों पर पानी फेरते हुए विजिलेंस ने इस मकान पर छापेमारी कर दी। छापेमारी के दौरान पूरे मकान में डायरेक्ट केबल से लाइट चोरी होती पाई गई और विजिलेंस अपनी कार्यवाही करके मौके से चली गई इसके बाद लाइनमैन राजीव में नई चाल खेल कर एक ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसको देखकर आपकी आंखें खुली की खुली रह जाएंगी।बताते चलें कि पूर्व में अपने इन्हों कारनामों के चलते सस्पेंड हुए लाइनमैन राजीव ने मकान से उसी दिन मीटर चोरी की बात पूरे बिजली घर में फैला दी और कहने लगा कि इस मकान से तो दिनांक 17-10-2020 कि सुबह ही मीटर चोरी हो चुका था और इसके बाद विजिलेंस ने इस मकान पर छापेमारी की है जो कि बोहोत ज़्यादा हास्यास्पद है जेई निरंजन मौर्या ने पूर्व में भी कई सत्ताधारी नेताओं का दबाव अधिकारियों पर बनवा कर अपने इस भ्रष्‍ट और चहिते लाइनमैन राजीव को दोबारा कोयल एनक्लेव बिजली घर पर रख लिया था क्यूंकि और यह तभी से दोबारा इस तरह मकान में लाइट चोरी करवाना मकान पर बकाया होने के बाद कनेक्शन दिलवाना बिल का सेटलमेंट करवाने आदि का अपना एक समानांतर बिजनेस जेई मौर्या के संरक्षण में बिजली घर के अंदर बैठ कर चलाता है।गुप्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मामला ज्यादा गर्म होता देख अब राजीव पूरे मामले हर प्रकार से दबाने की कोशिश में लगा हुआ है, परंतु ऐसा होगा नहीं क्यूंकि इस पूरे मामले का संक्षिप्त विवरण शाशन व प्रशासन स्तर के अधिकारियों तक शिकायत के माध्यम से पहुंचाई जा रही है।


Comments