दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने अपनी उगाही करने के लिए रखा हुआ है प्राइवेट राजू नामक व्यक्ति


दिल्ली:- थाना जीटीबी एनक्लेव के अंतर्गत आने वाले ताहिरपुर लाल बत्ती तिराहे पर तैनात ट्रैफिक पुलिस कर्मियों ने उगाही का सिंडिकेट चलाने के लिए एक प्राइवेट राजू व रामबाबू नामक व्यक्ति को रखा हुआ है जो किसी भी गाड़ी को अपने इशारे पर ट्रैफिक कर्मियों को पकड़वा देते है। वहीं दूसरी तरफ ट्रैफिक पुलिस कर्मियों ने जीटीबी हॉस्पिटल के पास बनी लाल बत्ती पर रामबाबू नामक प्राइवेट व्यक्ति गाड़ियों से उगाही के लिए रखा हुआ है जो अपने आप को डीसीडी में बता वाहन चालकों से उगाही करता है बाद में वह सारा पैसा ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के साथ बराबर-बराबर बांट लेता है अगर कोई व्यक्ति पैसे ना दे तो उसकी गाड़ी को राजू जो चार खंबे की लाल बत्ती पर खड़ा होता है वह रामबाबू जो जीटीबी हॉस्पिटल की लालबत्ती पर खड़ा होता है उन गाड़ियों को ट्रैफिक पुलिस कर्मियों से पकड़वा देते हैं और उसके बाद उसे अपने दबाव मे लेकर मोटी रकम वसूल करते हैं जिसे आप फोटो में भी साफ तौर पर ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की बराबर में बैठे हुए देख सकते हैं। ऐसा ही एक ताज़ा मामला सामने आया है जिसमें ताहिरपुर लाल बत्ती पर तैनात ट्रैफिक पुलिस कर्मियों ने एक खाली थ्री व्हीलर को रोक लिया और कागज न दिखाने की वजह से थ्री व्हीलर मालिक से चार हजार रुपए थ्री व्हीलर को छोड़ने के एवज में राजू नामक व्यक्ति ने ले लिए जिससे साफ जाहिर होता है कि वहां पर तैनात पुलिसकर्मियों की मिलीभगत से इस सिंडिकेट को चलाया जा रहा है तभी ऐसे लोगों के हौसले दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं और जनता की नजरों में पुलिस की छवि धूमिल होती जा रही है। जब यह सारा मामला प्रेस के संज्ञान में आया और सोशल मीडिया पर इसकी ख़बरें निरंतर चलने लगी तब से ऑटो चालक पर राजू के द्वारा दबाव बनाया जा रहा है की अपने ₹4000 वापस लेकर जाओ और अब इस जगह से ऑटो निकालना बंद कर दो वरना तुम्हारी गाड़ी को सीज कर दिया जाएगा। जिसकी वजह से प्रार्थी काफी परेशान है और काफी डरा हुआ है।यह सारा मामला उच्च अधिकारियों के संज्ञान में लाया जा रहा है जिससे दोषियों के ऊपर उचित कानूनी कार्यवाही हो सके।


Comments