रजनी

 


नील रजनी कामिनी निखरी मृदुल अहसास से,
रीझ नीरज रूप पर तन चूमती उल्लास से।


शुभ्र मणिका देह झिलमिल ओढ़ चूनर दमकती,
देख आनन ताल दर्पण श्याम वसना सँवरती।
तारिकाएँ माँग भर कुंतल सजाती साँवरी,
अंक में भर चाँद को पल-पल लजाती बावरी।
रातरानी सी महकती नरगिसी आभास से,     
नील रजनी कामिनी निखरी मृदुल अहसास से।


तुहिन कण मुक्तक लुटाकर नेह छितराती रही,
मोद मधुरिम दे युगल को मंद मुस्काती रही।
खिड़कियों से झाँकते कुछ मचलते अरमान हैं,
पा विरह की वेदना कुछ टूटते इंसान हैं।
बेख़बर है जग समूचा सो रहा विश्वास से,
नील रजनी कामिनी निखरी मृदुल अहसास से।


शांत,शीतल,सौम्य,कोमल भाव रखती यामिनी,
शून्य चेतन हर पहर में गुनगुनाती रागिनी।
काम,भोगी,क्लांत जन विश्राम पाते हैं सभी,
खोल गठरी याद की खुद को रुलाते हैं कभी।
स्वप्न पथगामी बनी निद्रा कराती आस से,
नील रजनी कामिनी निखरी मृदुल अहसास से।


त्यागकर अस्तित्व निज सूरज उगाकर सुख दिया, 
तिमिर को सहचर बनाया पीर सहकर दुख लिया।
मौन अधरों पर बसा कैसे बताए ये व्यथा,
द्रोपदी सम केश खोले क्या सुनाए ये कथा।
देखकर व्यभिचार चाहे कुछ नहीं मधुमास से,
नील रजनी कामिनी निखरी मृदुल अहसास से।




डॉ. रजनी अग्रवाल 'वाग्देवी रत्ना'
वाराणसी (उ. प्र.)
________________________________
प्रस्तुति: डाटला एक्सप्रेस/प्रत्येक बुधवार/ग़ाज़ियाबाद/ 29 जनवरी से 04 फरवरी जनवरी 2020/व्हाट्सप 9540276160/मेल: rajeshwar.azm@gmail.com एवं datlaexpress@gmail.com/संपादक: राजेश्वर राय 'दयानिधि'


Comments
Popular posts
नही हुई कार्यवाही तो आरटीओ कार्यालय का घेराव कर करेंगे तालाबंदी पं. सचिन शर्मा (प्रदेश अध्यक्ष)
Image
मुख्य अभियंता मुकेश मित्तल एक्शन मे, भ्रष्‍ट लाइन मैन उदय प्रकाश को हटाने एवं अवर अभियंता के खिलाफ विभागीय कार्यवाही के दिये आदेश
Image
प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की छत्रछाया में अवैध फैक्ट्रियों के गढ़ गगन विहार कॉलोनी में हरेराम नामक व्यक्ति द्वारा पीतल ढलाई की अवैध फैक्ट्री का संचालन धड़ल्ले से।
Image
वरिष्ठ कवियित्री ममता शर्मा "अंचल" द्वारा रचित एक खूबसूरत रचना "जो न समझते पाक मुहब्बत" आपको सादर प्रेषित
Image
चोरों के हौसले बुलंद-भोपुरा स्थित आशीष भारत गैस एजेंसी के ऑफिस का तोड़ा ताला
Image