कवयित्री चन्द्रकांता सिवाल "चन्द्रेश" वी.जी. मिसेज इंडिया 2019 में श्रीमती "भारतीय मूल्यों" ताज से सुशोभित


डाटला एक्सप्रेस
व्हाट्सप- 9540276160 
datlaexpress@gmail.com 


फरीदाबाद- विजनरा ग्लोबल मिसेज इंडिया द्वारा होटल रेडिसन ब्लू फरीदाबाद में आयोजित विजी मिसेज इंडिया 30 नवम्बर 2019 ग्रेंड फिनाले प्रतियोगिता में प्रतिभागी राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की कवयित्री चन्द्रकांता सिवाल "चंद्रेश" ने उप-शीर्षक विजेता श्रीमती "भारतीय मूल्यों (Indian value)" का ताज जीतकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। यह सम्मान इन्हें वीजी मिसेज इंडिया की फाउंडर संयोजक श्रीमती विनीता श्रीवास्तव द्वारा दिया गया। इन्होंने इस प्रतियोगिता में राष्ट्रीय परिधानों के राउंड में राजस्थान के पारंपरिक परिधान राजस्थानी वेशभूषा की शानदार प्रस्तुति कर भारतीय संस्कृति और कला का बेहतर प्रदर्शन किया।



अर्धशतक वसंत की दहलीज पर कदम रख चुकीं दिल्ली की कवयित्री चन्द्रकांता सिवाल "चन्द्रेश" ने अपने ऊपर उम्र को कभी प्रभावी नहीं होने दिया और आधी आबादी को सकारात्मक संदेश देने के लिये सदा ही प्रयासरत रहीं। कभी घर के दराज़ के अंदर की भूमिका शालीनता से निभाई तो कभी दहलीज के बाहर के सामाजिक परिवेश में सराहनीय भूमिका अदा की। हौसलों के साथ कड़ी मेहनत की प्रतिमूर्ति "चन्द्रकांता सिवाल" ने कभी अपनी कविताओं के माध्यम से मंच पर आधी आबादी का संदर्भ मजबूती से रखा तो कभी सामाजिक कार्यों में रुचि लेकर महिला विकास नारी सशक्तिकरण को आयाम देने में लगी रहीं, कभी अपनी लेखनी को आधी आबादी को समर्पित कर दिया तो कभी अपने कठोर श्रम को। दिल्ली की एक मजबूत संस्था "दिल्ली प्रांतीय रैगर पंचायत पंजी." की उप-प्रधान पद पर चयनित होकर उन्होंने आधी आबादी से नेतृत्वकर्ता की खोज शुरू कर दी और महिलाओं के लिये प्रेरणास्त्रोत बनकर उभरीं। चन्द्रकांता सिवाल "चंद्रेश" जी अपने आलेखों से आधी आबादी को आबाद करना चाहती हैं। चन्द्रेश जी "आत्मजा साहित्य संस्थान" जो साहित्य कला संस्कृति को समर्पित सामाजिक संगठन है, की संस्थापक हैं। इनको विभिन्न संगठनों द्वारा समय- समय पर बेहतर प्रदर्शन के लिये सम्मानित किया जाता रहा, इन्होंने सामाजिक कार्यों के प्रति कभी उदासीनता नहीं दिखाई या यूँ कहिए कि हर मौके पर पूरे मनोयोग से उपस्थित रहीं।


Comments
Popular posts
जीडीए के नए उपाध्यक्ष क्या लगा पाएंगे प्रवर्तन जोन 06 के इंदिरापुरम क्षेत्र में हो रहे अवैध निर्माणों पर अंकुश।
Image
जीडीए प्रवर्तन जोन एक (01) अभियंताओं के संरक्षण में वर्षों से संचालित हैं कई अवैध मार्केट्स।
Image
भारतीय किसान यूनियन "अंबावता" द्वारा ओला वृष्टि से हुए किसानों के नुकसान पर मुआवजा देने के लिए राष्ट्रपति के नाम दिया ज्ञापन।
Image
गाज़ियाबाद विकास प्राधिकरण के उद्यान अनुभाग अंतर्गत आने वाले सिटी फॉरेस्ट के वाहन पार्किंग स्थल पर तैनात कर्मी जीडीए द्वारा निर्धारित वाहन पार्किंग मूल्य हेतु टिकट पर अंकित मूल्य से अधिक ले रहे हैं पैसे।
Image
गाज़ियाबाद के लोनी में कोरोना के बढ़ते मामलों से पूरा क्षेत्र दहशत में