जीडीए उद्यान विभाग की कारस्तानी: ग्रीन बेल्ट में लगी आग


डाटला एक्सप्रेस


गाजियाबाद: गाजियाबाद शहर के सुंदरीकरण का भार गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए) के जिस उद्यान विभाग के कंधों पर है वो ठेकों में भ्रष्टाचार (कमीशनख़ोरी), अधिकारियों की बेरुखी और कर्मचारियों की अकर्मण्यता के चलते अपने उद्देश्य में पूरी तरह असफल है। ऊपर से कोढ़ में ख़ाज लखनऊ विकास प्राधिकरण में कार्यरत उद्यान अधिकारी एसपी शिशौदिया जो पूर्व में सपा एवं बसपा सरकारों में अपनी अच्छी पैठ के कारण नियमों के विरुद्ध एक दशक से ऊपर जीडीए में टिका रहा था, के द्वारा योगी सरकार में साठ-गांठ बनाकर एक नवसृजित पद 'निदेशक' के द्वारा हफ्ते में दो दिन कार्यभार संभालने से हो गया है। उद्यान विभाग की सारी व्यवस्था ही शिशौदिया के आने से चरमरा गयी है क्योंकि हफ्ते में चार दिन तो कोई काम ही नहीं होता।



इसी क्रम में नवीनतम् प्राप्त समाचार के अनुसार संजय नगर फ्लाई ओवर के पास का ग्रीन बेल्ट जिसका रख-रखाव जीडीए कर रहा है वहाँ बहुत ऊंचे-ऊंचे खर-पतवार खड़े हो गये हैं, कहने को इस ग्रीन बेल्ट में सबमर्शिवल ट्वूबवैल भी है, कर्मी के रहने के लिए हट भी है परंतु इस सब के बाबजूद सिंचाई के अभाव में घास-पेड़-पौधे सूख गए हैं, जिससे वहाँ पर आग लग गयी जिसमें 06 से 07 फुट तक के पेड़ जल कर राख हो गये हैं। अब देखना होगा कि कथित उद्यान निदेशक (यह पद विकास प्राधिकरणों में सृजित नहीं है) एसपी शिशौदिया इस प्रकरण में क्या कार्रवाई करता है, और गर्मियों में ऐसी किसी दुर्घटना को रोकने के लिए क्या क़दम उठाता है।


डाटला एक्सप्रेस
संपादक:राजेश्वर राय "दयानिधि"
Email-datlaexpress@gmail.com
FOR VOICE CALL-8800201131
What's app-9540276160


Comments