महिला का बेरहमी से कत्ल: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा, मुनिया को दर्दनाक तरीके से दी थी मौत


डाटला एक्सप्रेस संवाददाता 

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के लोनी की अशोक विहार कॉलोनी में शनिवार को दिनदहाड़े महिला मुनिया की मुंह पर कपड़ा रख दम घोंटकर हत्या की गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। रविवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव को बागपत अपने मूल निवास ले गए। पुलिस की टीमें मृतका के करीबियों से पूछताछ कर रही है। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे में पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा है। लोनी सीओ अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव को सुपुर्दे खाक करने के लिए बागपत चले गए थे। शाम के समय वापस लोनी लौटने पर पुलिस ने पूछताछ शुरू की है। परिजनों और करीबियों से अलग-अलग पूछताछ की जा रही है। पूछताछ में अभी कोई अहम सुराग हाथ नहीं लगा है। करीबियों की कॉल डिटेल और लोकेशनों पर पुलिस नजर रखे हुए है। पुलिस की तीन टीमें हत्या के खुलासे में लगी हुई हैं।

अशोक विहार में बंधक बना महिला की गला दबाकर हत्या

शनिवार दोपहर को अशोक विहार कॉलोनी में बदमाशों ने घर में घुसकर मुनिया (35) को बंधक बनाकर उनकी गला दबाकर हत्या कर दी थी। इसके बाद लूटपाट कर गेट बंद कर फरार हो गए। परिजनों ने बताया कि घर से 70 हजार नकद और सवा लाख के गहने गायब थे।

बागपत के दौलतपुर निवासी दिलशाद पत्नी मुनिया (35), बेटी अलिशा(13), आहत (10) और अरहाम (3)के साथ रहते हैं। परिजनों के अनुसार शनिवार सुबह दिलशाद काम पर चले गए थे। अलिशा और आहत दोनों पढ़ाई कर दोपहर करीब डेढ़ बजे घर पहुंची तो मुख्य गेट पर कुंडी लगी थी।

बच्चे दरवाजा खोलकर अंदर गए तो मुनिया सोफे पर मृत पड़ी थी, उनके हाथ-पैर कपड़े से बंधे थे, गले पर कपड़ा बंधा हुआ था। तीन साल का बेटा उनके पास खड़ा रो रहा था। पड़ोसियों ने पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस को बेड के अंदर एक लाख रुपये मिले।

परिजनों का कहना है कि दिलशाद के ड्यूटी पर जाने के बाद बच्चे भी स्कूल चले जाते हैं। सुबह आठ बजे से डेढ़ बजे तक मुनिया गेट को बंद ही रखती थी। वह अपने मकान के ऊपरी कमरे में रहती थी। नीचे फ्लोर पर वह साफ सफाई के लिए आती थी। वह किसी अंजान के लिए दरवाजा नहीं खोलती थी। अंदेशा है कि किसी जान पहचान वाले ने ही घटना को अंजाम दिया।

घर से आ रही थी तेज गानों की आवाज

पड़ोसियों का कहना है कि शनिवार दोपहर करीब 12:30 बजे घर के अंदर से तेज गाने बजने की आवाज आ रही थी। दस मिनट बाद गानों की आवाज बंद हो गई। अंदेशा है कि बदमाशों ने तेज गाने इसलिए बजाए ताकि आवाज बाहर न जा सके।

Comments
Popular posts
पर्पल पेन समूह द्वारा 'अनहद' काव्य गोष्ठी एवं पुस्तक लोकार्पण का भव्य आयोजन
Image
भ्रष्‍ट लाइनमैन उदय प्रकाश को एक बार फिर बचाने मे कामयाब दिख रहे हैं जांच अधिकारी।
Image
चन्द्र फ़िल्म प्रोडक्शन की दूसरी फ़िल्म बावळती के पोस्टर का विमोचन तोदी गार्डन में अध्यक्ष पवन महेश्वरी भजपा, सुल्तान सिंह राठौड़, पवन तोदी ने किया।
Image
काशी भूमि सेवा संस्था के कार्यकारी निदेशक श्री भूपेंद्र राय ने रोशन कुमार राय द्वारा लिये गये साक्षात्कार मे कहा-समाज सेवा और जनहित ही है मेरा पहला लक्ष्य
Image
पिलखुवा में राष्ट्रीय ग़जलकार सम्मेलन सम्पन्न
Image