प्रशासन के खोखले वादों से मुफलिसी में जीने को मजबूर है स्व. पत्रकार विक्रम जोशी का परिवार


डाटला एक्सप्रेस संवाददाता 

प्रशासन ने पत्नी को नौकरी देने का किया था वादा जो कि आजतक नहीं हुआ पूरा 

गाजियाबाद:-स्वर्गीय पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या हुए लगभग एक वर्ष बीत चुका है। एक वर्ष पहले ही माता कालोनी में बदमाशों द्वारा विक्रम जोशी के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। जिसके बाद पत्रकारों ने एकजुटता दिखाते हुए जमकर हंगामा किया था और तब स्वयं सरकार को इस मामले को गंभीरता से लेना पड़ा। पत्रकारों की जिद के आगे स्वयं यशोदा अस्पताल परिसर में गाजियाबाद जिलाधिकारी व एसएसपी पहुंचे थे और पत्रकारों को शांत कराते हुए यह आश्वासन दिया था कि स्वर्गीय विक्रम जोशी की पत्नी को नौकरी दी जाएगी, बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा दिलायी जाएगी। उक्त आश्वासन देकर आला अधिकारी वहां से चले गए। इस वाक्या को लगभग एक वर्ष बीत चुका है लेकिन आज तक स्वर्गीय विक्रम जोशी की पत्नी को नौकरी नहीं मिल पायी है जिससे परिवार की हालत काफी ज्यादा दयनीय हो गयी है। परिवार के लोगों ने बताया कि तभी से जिलाधिकारी के यहां नौकरी के लिए लगातार चक्कर लगाये जा रहे हैं और प्रार्थना की जा रही है परिवार का भरण पोषण करने की दुहाई देकर नौकरी की मांग की जा रही है। लेकिन गाजियाबाद प्रशासन इस ओर से आंखे मूंदकर बैठा है। पत्रकार विक्रम जोशी के जाने के बाद उनके परिवार में कमाने वाला कोई भी शेष नहीं रहा। उनकी मां जो कि अब वृद्ध हो चुकी हैं जिनकी अधिकांश तबियत खराब रहती है बावजूद इसके वह लगातार अपनी बहु की नौकरी के लिए जिलाधिकारी के यहां चक्कर लगाती रहती है लेकिन आज तक नौकरी की व्यवस्था नहीं हो पायी। 



स्वर्गीय विक्रम जोशी का परिवार सरकार से पूछता है कि क्या विक्रम जोशी की गलती यह थी कि उसने गलत लोगों के खिलाफ अपनी आवाज बुलन्द की थी जिसका खामियाजा उन्हें अपनी जान देकर चुकाना पड़ा और अब परिवार चुका रहा है। स्वर्गीय पत्रकार की मां ने बताया कि विक्रम जोशी के जाने के बाद घर में खाने तक के लाले पड़े हुए हैं और कोई नौकरी न होने की वजह से सभी मुफलिसी की जिंदगी जीने को मजबूर हैं। पीड़ित परिवार ने कहा कि हम सरकार से मांग करते हैं कि जल्द ही हमारे लिए नौकरी की व्यवस्था की जाये ।

Comments
Popular posts
प्रकाशित ख़बरों व प्रेषित शिकायतों से बौखलाये खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के क्षेत्रीय अधिकारी आशीष गंगवार, भिन्न-भिन्न माध्यमों से बना रहे पत्रकार पर दबाव
Image
कविता:-जो मन कहता
Image
अखिल भारतीय सफाई मजदूर "कांग्रेस" के महामंत्री सोहन सिंह मेहरोलिया, सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर मिलने पहुंचे मेयर हाउस दिल्ली:-अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के महामंत्री सोहन सिंह मेहरोलिया, सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर मेयर हाउस पहुंचे। तिमारपुर सिविल लाइन जोन मीटिंग में चर्चा की गई की सफाई कर्मचारियों की यूनियन के नेताओं को 4 माह का समय दिया गया था एवं एक ऑफिस ऑर्डर कॉपी निकाल कर दी गई थी जिसमें पूर्व मेयर जयप्रकाश जेपी जी ने कहा था कि 4 माह के अंदर तीनों निगमों में सभी सफाई कर्मचारी पक्के हो जाएंगे।परंतु यह कार्य चार माह बीतने के बाद भी नहीं किया गया। वर्तमान समय में मेयर राजा इकबाल सिंह हैं। अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस 7262 संगठन का एक जत्था डेलिगेशन के रूप में अपने सभी साथियों सहित मेयर से मिलने पहुंचे और मिलकर उन्हें यह ज्ञापन सौंपा गया की 1 सप्ताह के अंदर अगर इस पर इंप्लीमेंट नहीं करती है तो संगठन निगम प्रशासन व मेयर स्टैंडिंग कमेटी पूरी लॉबी के झूठ बोलने के आरोप के खिलाफ में प्रदर्शन करने पर बाध्य हो जाएगा। मेयर राजा इकबाल सिंह ने सभी लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा कि जिन लोगों को ऑफर लेटर बट चुके हैं उन्हें अगले हफ्ते तक मेडिकल लेटर दिए जायेंगे। मीटिंग के दौरान मौजूद रहे राष्ट्रीय प्रमुख महामंत्री सोहन सिंह मेहरोलिया, राष्ट्रीय संगठन मंत्री चरण सिंह टांक, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सतीश कंडेरा, दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष नंदकिशोर ढिलोर, कार्यवाहक अध्यक्ष सुरेश बागड़ी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सतवीर बागड़ी, उपाध्यक्ष अनूप बहोत, उपाध्यक्ष रोहतास टाक, प्रदेश महामंत्री अनिल बहोत, प्रदेश कोषाध्यक्ष विजय चौटाला, प्रदेश संगठन मंत्री संतोष कुमार गोडियाल, दिल्ली प्रदेश महामंत्री मुकेश चावरिया, मीडिया प्रभारी प्रदेश मुकेश ढैडंवाल, दिल्ली प्रदेश सह प्रभारी विजयपाल बिड़लान, दिल्ली प्रदेश कानूनी सलाहकार एडवोकेट बृजेश कुमार, महाराष्ट्रा नासिक से आए प्रतिनिधिमंडल के साथ संजय कल्याण व जोन अध्यक्ष नवीन झंझोट, दीपक सूट, अनिल चंडालिया, सुखबीर सारसर, वीरू चंडालिया, विनोद गहलोत, रविंदर सिलेलान, कर्मवीर टॉक, निवेदक दिल्ली प्रदेश महामंत्री मुकेश चावरिया
Image
शालीमार गार्डन एक्सटेंशन 2( डेढ़ सौ फुटा रोड) को हॉटस्पॉट होने के कारण किया गया बंद 
Image
कविता:-कुछ अहसास कहो जी
Image