कलम की ताकत


 


अनिल कुमार पाण्डेय


प्रदेश अध्यक्ष- उगता भारत प्रबुद्ध जन मंच


 ए-265 आई टी आई संचार विहार मनकापुर,


गोण्डा (उ प्र ) शब्ददूत-9198557973


 


 


कविता 


ताकत बहुत कलम में होती 


है खंजर से भारी ।


हार गए हथियार सभी पर


कलम न हिम्मत हारी ।।


 


ऋषि मुनियों के हाथ लगी जब


चार वेद लिख डाले ।


मिटा बहुत कुछ इस दुनिया से 


मिटे न लिखने वाले ।।


रुकी नही रफ़्तार आज तक


लिखना अब भी जारी । ताकत बहुत---------


 


वाल्मीकि ने कलम उठाकर


राम कथा लिख डाली ।


तुलसी ने भी उसी भाव से


स्वस्थ प्रथा प्रतिपाली ।।


कलम साधिका सरस्वती की


जिनकी हंस सवारी । ताकत बहुत-----------


 


हथियारों की होड़ मची तब


हमने कलम उठाई ।


इसी कलम के बल पर हमने


विश्व विजय कर पाई ।।


तीर और तलवार सभी ने 


झुककर मानी हारी । ताकत बहुत-------------


 


इतिहासों के पृष्ठ सजे सब 


कैसे महिमा गाऊँ ।


तम की तारण हार कलम है


बार-बार समझाऊँ ।।


सभी उपासक इसी कलम के


सद् गृहस्थ नर नारी । ताकत बहुत----------


 


 


 


Comments
Popular posts
मशहूर कवि डॉ विजय पंडित जी द्वारा रचित रचना "सुरक्षित होली प्रदूषणमुक्त होली"
Image
भक्त कवि श्रद्धेय रमेश उपाध्याय बाँसुरी की स्मृति में शानदार कवि सम्मेलन का किया गया आयोजन।
Image
भारतीय किसान यूनियन "अंबावता" द्वारा ओला वृष्टि से हुए किसानों के नुकसान पर मुआवजा देने के लिए राष्ट्रपति के नाम दिया ज्ञापन।
Image
अलवर राजस्थान की सुप्रसिद्ध एवं वरिष्ठ कवि ममता शर्मा 'अंचल' द्वारा रचित रचना "बंजारे दिल का"
Image
प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की छत्रछाया में अवैध फैक्ट्रियों के गढ़ गगन विहार कॉलोनी में हरेराम नामक व्यक्ति द्वारा पीतल ढलाई की अवैध फैक्ट्री का संचालन धड़ल्ले से।
Image